करती तो हूँ मे भी इश्क तुझे
पर कहने की खता मे कर नही सकती
कर भी लूँ एक वादा साथ जीने का
वक्त का गुलिस्तां कहाँ हम पे रहा
हो जाओगे तुम मुझ पे फनाह ये जानती हूँ
इसलिए अभी तक दर्द सीने मे दबाये हैं
कुछ लम्हें है मुझपे जिसमें ये एहसास काफी है
गुजर जायेगें जब हम लम्हों से टूट कहीं जाओगे तुम
रह लूँ यूँ हीं गुमसुम सी दिल पे पत्थर रखके
जब हाथ छूटना तय है तो हाथ मिलाऊँ किस वास्ते
एक तस्ली दिल को दे दूँ चलो ये साथ पूरा कर दूँ
गुजर गये जब हम तुमसे तो क्या न तलाशो गे हमे
अभी है नाम बेरहम का जो गवारा है मुझे
छूट जाओगे जब अकेले तो क्या बेवफा न कहोगे।
         
           Some desires left there
             
             याद है एक नाम तेरा साँसों मे
             रह गया एहसास लम्हों में
             काश खुदा चुरा ले वो लम्हा
              याद मे तेरे न टपके
              एक भी आँसू इन आँखों से।
         
           Lover just passed away
        
          तुम बिन अच्छा नही लगता
           ये विराना मौसम अच्छा नही लगता
           बरसों से न हुई बातें तुमसे
           अब गुमसुम रहना भी अच्छा नही लगता
           उदास रहते हैं अक्सर अब हम
           देते थे तुम जो हँसी वो खुशी तलाशु कैसे।
           
       Passed away too her beloved
          
            फूलों से राह सजाई है
            तेरे आने की तैयारी की है
            अब होगा खुशनुमा मौसम भी
            दो प्यासी धड़कने मिल रही हैं
            फूल भी खिलने लगे हैं बंजरों मे
            शायद भाग्य की लकीरें आ गई जले हाथो मे
            देखो वक्त की ताकत मेरा सब्र
            तुम आ ही गये मेरी बाहों में।

Advertisements