अक्सर जाने लगे हम उन जगहो पे

जहां कोई नहीं होता

बस हवा पानी किरणों के सिवा

कुछ सुकून तो उन रास्तो मे मिलता है

दिल की कीमत जान  गए हम अब

टूटे भी तो किसी कड़ी को जोड़ते हुए

जज़्बातों से टूटना शायद ठीक नहीं

किसी की हसरत लेके जीना भी अछा होता है अक्सर

जब जीने की वजह न मिले

Advertisements